Paryavaran Ka Mahatva Essay Contest

Essay On Eid Ul Milad Un Nabi Essay for you Skidkajazz ru.

Essay On Buland Darwaza In Hindi Language Essay for you Worldoffiles ru.

Chetna added an answer on helpful votes in Hindi takneke uug me pustakalay ka mahatva in for essay Voluntary Action Orkney.

body of essay key recommendations to write a amazing term paper body of essayjpg Twitter.

Shram Ka Mahatva In Hindi Essay On Pollution Essay for you Skidkajazz ru.

PUSTAKALAYA HINDI ESSAY Argo mlm ru essay about terrorism sbprinting com Home world aids day essay paragraph in english.

Pustakalaya Ka Mahatva Essay Writer Essay for you.

essay on pollution in hindi font.

PUSTAKALAYA HINDI ESSAY Worldoffiles ru Video.

Essays in hindi for class th syllabus FC .

Nai shiksha niti essay writer.

Pustakalaya Essay In Hindi For Class Essay for you.

Jeevan Me Khelo Ka Mahatva Essay Typer Essay for you new essays on life writing and the body essay service new essays on life writing and.

Sacchi Mitrata Essay Examples Essay for you Lepninaoptom ru Essays on Hindi Essay Pustakalaya Ka Mahatva In Hindi Word.

Pustakalaya ka mahatva essay typer.

Pustakalaya Ka Mahatva Essay Outline image Your Essay.

essay on body language wizkids essay on body language usher Welcome to National Book Trust India.

Pustakalaya ka mahatva essay writing barskacakescom toichimdns.

Ghulami Aik Lanat Hai Essay About Myself image INPIEQ.

Essay On Buland Darwaza In Hindi Language image .

Hindi debate Hindi Bhasha ka vartamaan samay mein Auchitya Worldoffiles ru hindi niband on computer jpg.

Pustakalaya hindi essay Lepninaoptom ru.

Video Skidkajazz ru.

Essay Writing Android Apps on Google Play Fcmag ru Pustakalaya Ka Mahatva Essay Outline image .

essay on pollution in hindi font Skidkajazz ru Video.

Pustakalaya ka mahatva essays .

Shram Ka Mahatva In Hindi Essay On Pollution Essay for you.

Essay Writing Android Apps on Google Play.

Pustakalaya hindi essay Skidkajazz ru.

Pustak Ka Mahatva Essay Writer Essay for you Lepninaoptom ru pustakalaya ka mahatva essay in hindi nibandh lekhan pustakalaya ka mahatva essay in hindi nibandh lekhan.

Pustakalaya ka mahatva essay writing barskacakescom.

pustakalaya ka mahatva essay in hindi nibandh lekhan Lepninaoptom ru.

Essay money not everything meetvoice com Lepninaoptom ru hindi niband on computer jpg.

Jeevan Me Khelo Ka Mahatva Essay Typer Essay for you Columbia University Mba Essay Template image .

Sampradayik Sadbhav Essay Writer Essay for you Parishram Ka Mahatva Essay Wikianswers Black image .

Samay Ka Mahatva Essay ProHindi Lepninaoptom ru.

Pustakalaya Ka Mahatva Essay Outline image Lepninaoptom ru.

Parishram Ka Mahatva Essay Wikianswers Fail Essay for you.

Sampradayik Sadbhav Essay Writer Essay for you.

Pustakalaya Ka Mahatva Essay About Myself Essay for you Pustakalay Essay in Hindi Pustakalya ka mahatva essay in ndi.

Hindi Essay Android Apps on N ru Paryatan Ka Mahatva Essay Scholarships image .

Hindi Essay Writing screenshot.

Pustakalaya Ka Mahatva Essay In Hindi Nibandh On Cow Essay for you.

Naitik Shiksha In Hindi Essay On Pollution Essay for you muchimdns Pustak Ka Mahatva Essay Writer image .

Pustak Mela Essay Typer Essay for you INPIEQ.

PUSTAKALAYA HINDI ESSAY Worldoffiles ru Hindi Essay Google Play dracula vs van helsing essay writing Hindi Essay Google Play dracula vs van helsing essay writing.

Hindi Essay Short Essay on Importance of Library Chetna added an answer on helpful votes in Hindi takneke uug me pustakalay ka mahatva in for essay.

Things To Do Welcome to National Book Trust India.

Vano Ka Mahatva Essay About Myself Essay for you.

Pustakalaya Essay In Hindi For Class Essay for you Skidkajazz ru Sampradayik Sadbhav Essay Writer image .

Pustakalaya Ka Mahatva Essay Outline Essay for you.

body image essay essay writing outline paragraph report effects of .

essay on bhagat singh in hindi font.

Vano Ka Mahatva Essay About Myself img Skidkajazz ru.

nibandh on on jeevan mein pustakalay ka mahatva in Lepninaoptom ru.

Sampradayik Sadbhav Essay Writer Essay for you Skidkajazz ru Jeevan Me Khelo Ka Mahatva Essay Typer image .

Vano Ka Mahatva Essay About Myself Essay for you.

Student essays on jack the ripper tour.

body image essay body language essay jpg images about body pride Worldoffiles ru.

Pustakalaya hindi essay Video.

My Favourite Food Essay In Hindi Essay Topics My Favorite Sport Essays Live Now My Favourite Food Essay In Hindi Essay Topics My Favorite Sport Essays Live .

Vano Ka Mahatva Essay About Myself img Fcmag ru.

Suchna ka adhikar in hindi essay on my mother.

Pustak Ka Mahatva Essay Writer Essay for you Pustak Ka Mahatva Essay Writer image .

in hindi essay on environment.

Essay on pustakalaya ka mahatva in hindi .

Argo mlm ru.

Pustakalaya in hindi essay on environment toichimdns.

Welcome to National Book Trust India Jeevan Me Khelo Ka Mahatva Essay Typer image .

Sanctity of life argument abortion essays Fcmag ru.

Parishram Ka Mahatva Essay Wikianswers Black image .

Columbia University Mba Essay Template Essay for you.

Google Play.

pustakalaya ka mahatva essay in hindi nibandh lekhan Essay On Buland Darwaza In Hindi Language image .

essay about terrorism sbprinting com Home world aids day essay paragraph in english.

Vano Ka Mahatva Essay About Myself Essay for you essay writing outline paragraph report belmont university essay application status.

Hindi.

Shram Ka Mahatva In Hindi Essay On Pollution image .

Urdu Taqreer Mera Watan Essay Essay for you Chetna added an answer on helpful votes in Hindi takneke uug me pustakalay ka mahatva in for essay.

Pustakalaya ke Skidkajazz ru.

Shram Ka Mahatva In Hindi Essay On Pollution Essay for you Skidkajazz ru Exaggerating someone s argument essay.

Fortress north america essay.

Hindi Essay Writing Android Apps on Google Play.

essay on pollution in hindi font.

Pustakalaya Ka Mahatva Essay Outline image .

Paropkar hindi essay.

body of essay key recommendations to write a amazing term paper body of essayjpg.

Pustakalaya in hindi essay on environment.

Business Related Topics For A Research Paper Essay for you healthy mind in a healthy body essay study at university essay writing.

Sampradayik Sadbhav Essay Writer image .

Pustakalaya Ka Mahatva Essay Outline image .

Shram Ka Mahatva In Hindi Essay On Pollution Essay for you.

Things To Do.

essay on pollution in hindi font.

Short Essay on Importance of Library in Hindi.

Jeevan ek sanghursh hai essay contest.

Naitik Shiksha In Hindi Essay On Pollution Essay for you Fcmag ru Naitik Shiksha In Hindi Essay On Pollution image .

Related post for Essay on pustakalaya ka mahatva in hindi

पेड़ – पौधे और पर्यावरण पर निबन्ध | Essay on Forestation and Environment in Hindi!

पेड़-पौधे प्रकृति की सुकुमार, सुन्दर, सुखदायक सन्तानें मानी जा सकती हैं । इनके माध्यम से प्रकृति अपने अन्य पुत्रों, मनुष्यों तथा अन्य सभी तरह के जीवों पर अपनी ममता के खजाने न्यौछावर कर अनन्त उपकार किया करती है । स्वयं पेड़-पौधे भी अपनी प्रकृति माँ की तरह से सभी जीव-जन्तुओं का उपकार तो किया ही करते हैं ।

उनके सभी तरह के अभावों को दूर करने के साधन भी है । पेड-पौधे और वनस्पतियाँ हमें फल-फूल, औषधियाँ, एवं अनन्त विश्राम तो प्रदान किया ही करते हैं, वे उस प्राणवायु (ऑक्सीजन) का अक्षय भण्डार भी हैं की जिसके अभाव में किसी प्राणी का एक पल के लिए जीवित रह पाना भी असंभव है ।

पेड़-पौधे हमारी ईंधन की भी समस्या का समाधान करते हैं । उनके पत्ते अपने आप झड़कर इधर – उधर बिखर जाने वाले पत्ते घास – फूंस, हरियाली और अपनी छाया में अपने आप पनपने वाली नई वनस्पतियों को मुफ्त की खाद भी प्रदान किया करते हैं । उनसे हमें इमारती और फर्नीचर बनाने के लिए कई प्रकार की लकड़ी तो प्राप्त होती है, कागज आदि बनाने के लिए कच्ची सामाग्री भी उपलब्ध हुआ करती है ।

इसी प्रकार के पेड़ – पौधे हमारे पर्यावरण के भी बहुत बड़े संरक्षक हैं । पेड़ – पौधों की पत्तियां और ऊपरी शाखाएँ सूर्य किरणों के लिए धरती के भीतर से आर्द्रता या जलकण पोषण करने के लिए नलिका का काम करते हैं । जैसा कि हम जानते हैं सूर्य किरणें भी नदियों और सागर से जलकणों का शोषण कर वर्षा का कारण बना करती हैं, पर उससे भी अधिक यह कार्य पेड़-पौधे किया करते हैं । सभी जानते हैं कि पर्यावरण की सुरक्षा तथा हरियाली के लिये वर्षा का होना कितना आवश्यक हुआ करता है ।

पेड़-पौधे वर्षा का कारण बन कर तो पर्यावरण की रक्षा करते ही हैं, इनमें कार्बनडाई ऑक्साइड जैसी विषैली, स्वास्थ्य विरोधी और घातक कही जाने वाली प्राकृतिक गैसों का पोषण और शोषण करने की भी बहुत अधिक शक्ति रहा करती है । स्पष्ट है कि ऐसा करने पर भी वे हमारी धरती पर्यावरण को सुरक्षित रखने में सहायता ही पहुँचाया करते हैं ।

पेड़-पौधे वर्षा के कारण होने वाली पहाड़ी चट्‌टानों के कारण नदियों के तहों और माटी भरने से तलों की भी रक्षा करते हैं । आज नदियों का पानी जो उथला या कम गहरा होकर गन्दा तथा प्रदूषित होता जा रहा है उसका एक बहुत बड़ा कारण उनके तटों, निकास स्थलों और पहाड़ों पर से पेड़-पौधों की अन्धाधुन्ध कटाई ही है । इस कारण जल स्रोत तो प्रदूषित हो ही रहा है, पर्यावरण भी प्रदूषित होकर जानलेवा बनता जा रहा है ।

आजकल नगरों, महानगरों, यहाँ तक कि कस्बों और देहातों तक में छोटे-बड़े उद्योग- धन्धों की बाढ़ सी आ रही है । उनसे धुआँ, तरह-तरह की विषैली गैसें आदि निकल कर पर्यावरण में भर जाते हैं । पेड़-पौधे उन विषैली गैसों को तो वायुमण्डल और वातावरण में घुलने से रोक कर पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाया ही करते हैं, राख और रेत आदि के कणों को भी ऊपर जाने से रोकते हैं ।

इन समस्त बातों से भली- भाँति परिचित रहते हुए भी आज का निहित स्वार्थी मानव चन्द रुपये प्राप्त करने के लिए पेड़-पौधों की अन्धा – धुन्ध कटाई करता जा रहा है । उसके स्थान पर नये पेड़-पौधे लगाने – उगाने की तरफ कतई ध्यान नहीं दे रहा है ।

फलस्वरूप धरती का सामान्य पर्यावरण तो प्रदूषित हो ही गया है, उस ओजोन परत के प्रदूषित होकर फट जाने का खतरा भी बढ़ता जा रहा है कि धरती की समग्र रक्षा के लिए जिसका बने रहना परम आवश्यक है । कल्पना कीजिए उस बुरे दिन की (जो कभी न आए), जब ओजोन परत टूट कर समाप्त हो गई हो ।

धरती पर सूर्य की किरणें अग्नि वर्षा करने लगी हैं और उन के ताप से पिघल कर धरती खौलते लावों का दरियां बनती जा रही है । पेड़-पौधों का अभाव स्पष्टत: इस धरती पर आबाद समूची सृष्टि की प्रलय का कारण बन सकता है ।

धरती पर विनाश का यह ताण्डव कभी उपस्थित न होने पाये, इसी कारण प्राचीन भारत के वनों में, आश्रम और तपोवनों, सुरक्षित अरण्यों की संस्कृति को बढ़ावा मिला। तब पेड़-पौधे उगाना भी एकप्रकार का सांस्कृतिक कार्य माना गया । सन्तान पालन की तरह उनका पोषण और रक्षा की जाती थी ।

इसके विपरीत आज हम कंक्रीट के जंगल उगाने यानि बस्तियां बसाने, उद्योग- धन्धे लगाने के लिए पेड़-पौधों को, आरक्षित वनों को अच्छा – धुन्द काटते तो जाते हैं, पर उन्हें उगाने, नए पेड़-पौधे लगाकर उनकी रक्षा और संस्कृति करने की तरफ कतई कोई ध्यान नहीं दे रहे । कहा जा सकता है कि लापरवाही के फलस्वरूप हम अपनी कुल्हाड़ी से अपने ही हाथ-पैर काटने की दिशा में, अपने आप को लूला-लंगड़ा बना देने की राह पर बढ़े जा रहे हैं ।

यदि हम चाहते हैं कि, हमारी यह धरती, इस पर निवास करने वाला प्राणी जगत बना रहे हैं तो हमें पेड़-पौधों की रक्षा और उनके नवरोपण आदि की ओर प्राथमिक स्तर पर ध्यान देना चाहिए । यदि हम चाहते हैं कि धरती हरी- भरी रहे, नदियाँ अमृत जल धारा बहाती रहें और सबसे बढ़कर मानवता की रक्षा संभव हो सके, तो हमें पेड़-पौधे उगाने, संवद्धित और संरक्षित करने चाहिए, अन्य कोई उपाय नहीं ।

0 thoughts on “Paryavaran Ka Mahatva Essay Contest

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *